कहानी : सुखी जीवन | Hindi Motivation For Happy Life

Motivation For Happy Life

Hindi Motivational Story For Happy Life

आप कभी ना कभी बस में तो बैठे ही होंगे। बैठे बैठे आप क्या करते हो ? कुछ ना कुछ सोचते होंगे , या फिर फोन पर कुछ करते होंगे , या फिर कॉल पर बात करते होंगे , नहीं तो बाहर देखते होंगे , या फिर सोते होंगे। इनमें से कुछ ना कुछ करते ही होंगे।

लेकिन आपने कभी ड्राइवर को देखा है वह क्या करता है। वह सिर्फ फोकस करके गाड़ी चलाने पर ध्यान देता है। अगर ड्राइवर भी हमारी तरह सोचने लगे फोन पर बातें करने इधर उधर देखने लगे तो क्या होगा। तब सिर्फ एक ही चीज होंगी वह है एक्सीडेंट।

हमारे जीवन में हम इसी तरह हर काम में विचलित होंगे तो हमारे जीवन की यात्रा में हमारा एक्सीडेंट ही होगा। हम जीवन में सभी क्षेत्रों में विचलित रहते हैं। हमारे काम में , नौकरी में ,परिवार में हम ध्यान ही नहीं दे पाते। इसीलिए हमे खुद के जीवन की यात्रा में पीछे बैठा पैसेंजर बनने के अलावा ड्राइवर बनो।

आप जीवन में जो भी काम करते हो उसको एकाग्र होकर करो। जिस वक्त जो काम कर रहे हो उस वक्त उसी काम एकाग्र होकर करो। तभी आप जो पाना चाहते हो जिस जगह पहुंचना चाहते हो वहां पर जरूर पहुंचेंगे।

Hindi Motivational Story For Happy Life

प्रत्येक काम एकाग्र होकर करो इसका मतलब है नहीं की सिर्फ नौकरी या फिर दूसरा कोई काम एकाग्र होकर करना है।

नहीं जीवन का प्रतिक्षण आप जो भी कर रहे हो मतलब आप खाना भी खा रहे हो ना तो उसके प्रत्येक निवाले को फील करो। इसी को कहते हैं हर काम एकाग्र होकर करना।

अगर आप अपने परिवार के साथ कुछ समय बिता रहे हो उस समय उधर ही रहो , दूसरे विचार मत करते रहो।

अगर आप ऐसे जियो गे तभी आप जीवन का असली आनंद ले पाएंगे । अपने जीवन में जो पाना चाहते हो जो हासिल करना चाहते हो उसे हासिल कर पाएंगे।

अगर आपने हर एक काम में एकाग्र होना सीख लिया तो आपके जैसा सक्सेसफुल इंसान इस दुनिया में दूसरा कोई नहीं होगा और आपके जैसा खुश इंसान दुनिया में दूसरा कोई नहीं होगा।

दोस्तों अगर आपको ही आर्टिकल पसंद आए तो कमेंट में जरूर बताना और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना मत भूलना।
ऐसे ही Motivational Story  पढ़ने के लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक कीजिए धन्यवाद।

ankit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *