कहानी : मदत | Hindi Short Story With Moral

हे Hindi Short Story With Moral दुसरो को मदत करनेका महत्त्व समजाएंगी ।

Hindi Short Story With Moral

मदत – Hindi Short Story 

नीरज नाम का एक छोटा लड़का था। वह एक गरीब परिवार से था। एक दिन, वह जंगल के रास्ते से कुछ लकड़ियों को ले जा रहा था। उसने एक बूढ़े व्यक्ति को देखा जो बहुत भूखा था। नीरज उसे खाने के लिए कुछ देना चाहते था , लेकिन उसके पास खुद के लिए खाना नहीं था। इसलिए वह अपने रास्ते पर चलता रहा। अपने रास्ते में, उसने एक हिरण को देखा जो बहुत प्यासा था। वह उसे कुछ पानी देना चाहता था, लेकिन उसके पास खुद के लिए पानी नहीं था। तो वह अपने रास्ते पर आगे बढ़ गया।

फिर उसने एक आदमी को देखा जो एक घर बनाना चाहता था लेकिन उसके पास लकड़ी नहीं थी। नीरज के पास लकडिया थी ने तो उसने उन्हें कुछ लकड़ियाँ दीं। बदले में, उसने नीरज को कुछ खाना और पानी दिया। अब वह बूढ़े व्यक्ति के पास गया और उसे कुछ भोजन दिया और हिरण को थोड़ा पानी दिया। बूढ़ा और हिरन बहुत खुश थे। नीरज फिर खुशी-खुशी अपने रास्ते चला गया।

एक दिन नीरज जंगल के रास्ते से जाते समय गिर गया। वह दर्द में था लेकिन वह आगे नहीं बढ़ पा रहा था और उसकी मदद करने वाला कोई नहीं था। लेकिन, जिस बूढ़े व्यक्ति की उसने मदद की थी, वह उधर से जा रहा था। वह जल्दी से आया और नीरज को पहाड़ी तक ले लाया। उसके पैरों में कई घाव थे। जिस हिरण ने शंकर को पानी पिलाया था, उसने उसके घावों को देखा और जल्दी से जंगल में जाकर कुछ जड़ी-बूटियाँ ले आया। कुछ समय बाद उसके घावों को ढंक दिया गया। और नीरज पूरी तरह से ठीक हो गया , सभी बहुत खुश हुए।

Moral Of This Hindi Short Story :

 यदि आप दूसरों की मदद करते हैं, तो वे भी आपकी मदद करेंगे , अगर वो नहीं आये तो उनकी जगह दूसरा जरूर आएगा आपकी मदत के लिए ।

Hindi Short Story

Final Words :

दोस्तों आपको हे Hindi Short Story अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिये । और ऐसेही Hindi Motivational / Love/ Moral Stories In Short पढ़ने के लिए निचे क्लिक कीजिये ।

Hindi Story With Moral

Hindi Love Story

ankit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *